Spread the love

दिल में सवाल ज़िंदा रख ,
थोड़ा मलाल ज़िंदा रख

दौड़े जो खून बन के रगो में,
अपना वो ईमान ज़िंदा रख

रख तू नज़र अपनी पैनी ,
निशाना लगा लक्ष्य ज़िंदा रख

लाखों की भीड़ में नज़र तू आये,
खुद में वो कमाल ज़िंदा रख

अदब से मिले तुझसे हर एक दिल,
अपनी वो मुस्कान ज़िंदा रख

भटका ही सही ऐ मुसाफ़िर तू,
मंज़िल की तलाश ज़िंदा रख

इंसानियत खोते इस दौर में तू,
इंसानियत का नाम ज़िंदा रख
©जहान्वी पटोदिआ

http://jhanvipatodiawritesblog.tumblr.com/
jhanviwrites.wordpress.com
http://www.mirakee.com/jhanvipatodia

Spread the word about us 🙂
ज़िंदा रख (Inspired)
Tagged on:     

One thought on “ज़िंदा रख (Inspired)

  • June 24, 2017 at 3:05 pm
    Permalink

    That was awsum mam

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enjoy this blog? Please spread the word :)