Categories Blog

ज़िंदा रख (Inspired)

I am Alive
Spread the love

दिल में सवाल ज़िंदा रख ,
थोड़ा मलाल ज़िंदा रख

दौड़े जो खून बन के रगो में,
अपना वो ईमान ज़िंदा रख

रख तू नज़र अपनी पैनी ,
निशाना लगा लक्ष्य ज़िंदा रख

लाखों की भीड़ में नज़र तू आये,
खुद में वो कमाल ज़िंदा रख

अदब से मिले तुझसे हर एक दिल,
अपनी वो मुस्कान ज़िंदा रख

भटका ही सही ऐ मुसाफ़िर तू,
मंज़िल की तलाश ज़िंदा रख

इंसानियत खोते इस दौर में तू,
इंसानियत का नाम ज़िंदा रख
©जहान्वी पटोदिआ

http://jhanvipatodiawritesblog.tumblr.com/
jhanviwrites.wordpress.com
http://www.mirakee.com/jhanvipatodia

Spread the word about us 🙂

About the author

Creatively inclined curious learner, lover of nature and dogs, fine arts and antiques enthusiast, spiritual seeker, habitual shopaholic and a travel and gadget freak. Interior designer by profession and a writer by heart. Her Works can be found on these links:- http://jhanvipatodiawritesblog.tumblr.com/ jhanviwrites.wordpress.com http://www.mirakee.com/jhanvipatodia

One thought on “ज़िंदा रख (Inspired)”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *